गणेश चतुर्थी विशेष: क्या है सही, श्री गणेश की दाईं सूंड या बाईं सूंड? जानिए ऐसी ही कुछ 8 बातें, होगी कृपा..!

 1) गणेश चतुर्थी पर घर में सफ़ेद अथवा सिन्दूरी रंग की गणेश प्रतिमा स्थापित करनी चाहिए। ऐसा करने से सौभाग्य मिलता है और घर में मंगलमय माहौल बना रहता है।


 2) घर में हमेशा बैठे हुए और बाएं तरफ सूंड किये गणेश जी की स्थापना करें। ऐसा इसीलिए क्योंकि दाएं सूंड वाले गणेश जी की आराधना बहुत ही कठिन होती है और बहुत ही विधि विधान से की जाती है, वरना प्रभु रुष्ट हो जाते है। बाई ओर चंद्र नाड़ी होती है जो शीतलता प्रदान करती है। इसमें विशेष विधि-विधान की जरुरत नहीं होती। यह शीघ्र प्रसन्न होते हैं और मंगल करते है।


 3) गणेश चतुर्थी पर जब घर में गणेश जी की स्थापना होती है तब घर के सदस्यों को खाना बनाने में या किसी भी रूप में लहसुन और प्याज का उपयोग नहीं करना चाहिए।


 4) इस समय घर के मुख्य अतिथि भगवान गणेश होते है इसीलिए कुछ भी खाने से पहले गणेश जी जरूर भोग लगाना चाहिए उसके बाद ही स्वयं सेवन करना चाहिए। खाने से लेकर, प्रसाद, पानी आदि सबसे पहले भगवान को चढ़ाएं

पाइए संपूर्ण गणेश चतुर्थी पूजा संग्रह "हाउस ऑफ़ गॉड" एप पर:


 5) भगवान गणेश को कभी भी अकेला नहीं छोड़ना चाहिए। घर का एक न एक सदस्य हमेशा उनके साथ रहना चाहिए।

 

 6) इस दौरान किसी भी प्रकार का जुआ नहीं खेलना चाहिए। इस त्योहार के दौरान किसी भी तरह का जुआ खेलना अशुभ माना जाता है।


 7) जिनके घर में गणेश जी स्थापना हुई है वह चोरी नहीं करनी चाहिए। गणपति की मूर्ति की उपस्थिति में किसी को धोखा देने या चोरी करने से भगवान से उसकी कड़ी सजा मिलती है।


 8) इस दौरान किसी भी लड़ाई झगड़े से बचना चाहिए और नकारात्मक विचारों को दूर रखना चाहिए। एक शांतिपूर्वक माहोल स्थापित करना चाहिए।

 

यह भी पढ़े:


Add Comments

Please note, comments must be approved before they are published