News

Do you know what Rath Yatra on 25th June, 2017 is all about?

Do you know what Rath Yatra on 25th June, 2017 is all about?

                                Ratha Yatra is known as Chariot or car festival. It is one of the most celebrated Hindu festival of the country usu...

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विशेष...!

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विशेष...!

योग भारतवर्ष की परंपरा का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है। योग से ना सिर्फ शरीर और दिमाग की एकाग्रता बनी रहती है, बल्कि मनुष्य और प्रकृति के बीच भी सामंजस्य बना रहता है। हमारी आजकल की बदलती जीवन शैली में, जहाँ लोगों की जीवन की उत्तमता में कमी आती जा रही है, योग ही एकमात्र ऐसा साधन है जिससे जीवन का पूर्ण विकास हो सकता है। भारत की पहल पर संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित...

जानिए मोक्ष की नगरी "काशी" के रोमांचक और रहस्यमय तथ्य..!!

जानिए मोक्ष की नगरी "काशी" के रोमांचक और रहस्यमय तथ्य..!!

काशी' या 'वाराणसी' जिसे मोक्ष की नगरी कहा जाता है, इसका इतिहास हज़ारों वर्ष पुराना है और अपने में अनेकों रहस्यों को समेंटे हुए है। ऐसी मान्यता है कि काशी शहर शिव के त्रिशूल पर टिका हुआ है और यहाँ प्राण त्यागने वालों को काशी स्वामी 'भगवान विश्वनाथ या विश्वेश्वर' मोक्ष प्रदान करते हैं काशी शब्द का उद्गम 'कास' से हुआ है जिसका अर्थ है 'चमकने वाला' यहाँ पर स्थित बारह ज्योतिर्लिंगों...

आदित्यह्रदय स्त्रोत की विशेषता..!

आदित्यह्रदय स्त्रोत की विशेषता..!

"आदित्यह्रदय स्त्रोत " वाल्मीकि रामायण के युध्कांड का 105वां सर्ग है। आदित्य का अर्थ है - सूर्य भगवान और ह्रदय का अर्थ हुआ दिल, अतः यह प्रभावशाली स्तोत्र भगवन सूर्य जी के ह्रदय की ओर जाने का मार्ग माना गया है। प्रभु श्री राम के विजयी होने के पीछे एक बहुत ही रोचक प्रसंग हैं। भगवान् श्री राम ने स्वयं इसका पाठ रावण से युद्ध के समय किया था। भगवान् श्री राम को विजयी दिलाने के लिए अगस्त्य ऋषि ने इसका वर्णन किया था।

शनि जयंती विशेष: शनि दिलाएंगे कष्टों से मुक्ति..!!

शनि जयंती विशेष: शनि दिलाएंगे कष्टों से मुक्ति..!!

हिन्दू धर्मं में ज्येष्ठ मास की अमावस्या को शनि जयंती के रूप में मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन शनिदेव जो नौ ग्रहों में सातवें स्थान पर हैं, की पूजा करने से सारे प्रकोपों व दोषों से बचा जा सकता हैइस बार शनि जयंती 25 मई को मनाई जाएगी। उत्तर भारत में ज्येष्ठ अमावस्या को शनि जयंती के साथ-साथ वट सावित्री व्रत का पर्व भी मनाया जाता है। वहीँ दक्षिण भारत में बैसाख अमावस्या को शनि जयंती मनाई जाती है।

बुद्ध पूर्णिमा का महत्व, मान्यताए और रोचक तथ्य..!

बुद्ध पूर्णिमा का महत्व, मान्यताए और रोचक तथ्य..!

बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर पूरा राष्ट्र, हर्षोउल्लास से भगवान बुद्ध को अपनी श्रद्धांजलि देते है और उनके द्वारा दी गई शिक्षाओं को आत्मसात करता है | यह पर्व महात्मा बुद्ध के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है अतः बौद्ध धर्मावलम्बियों के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण दिन है | इस दिन महात्मा बुद्ध का जन्म हुआ था और इसी दिन उन्हें ज्ञान और निर्वाह की प्राप्ति हुई थी | हिन्दू मान्यताओं के अनुसार, महात्मा बुद्ध विष्णु...

Akshaya Tritiya – Auspicious Day

Akshaya Tritiya – Auspicious Day

The festival of Akshaya Tritiya is one of the most auspicious & sacred day celebrated with gaiety & vivaciousness by Hindus all over the country. Also known as Akti (in Chhattisgarh), Akha Teej (in Rajasthan & Gujarat) & Navanna Parvam, this holy festival of Hindus & Jains...

रामचरितमानस के 10 चमत्कारी दोहे, जो पूर्ण करेंगे हर इच्छा..!

रामचरितमानस के 10 चमत्कारी दोहे, जो पूर्ण करेंगे हर इच्छा..!

हिंदु धर्म सभयता में रामनवमी के त्यौहार की महत्वता है और इसे पूरे भारत में बहुत ही श्रद्धा भाव से मनाया जाता है. रामनवमी के पावन पर्व पर रामचरितमानस का पाठ करने से हर परेशानियां दूर होती है और मन की इच्छा भी पूर्ण होती है. रामचरितमानस के दोहे, चौपाई और सोरठा से इच्‍छापूर्ति की जाती है, जो...

रामनवमी महत्त्व, व्रत कथा और विधि !!

रामनवमी महत्त्व, व्रत कथा और विधि !!

रामनवमी, श्री राम की जन्मोत्सव की स्मृति में मनाया जाता है भगवान श्री राम का जन्म चैत्र महीने की शुक्ल पक्ष की नवमी को अयोध्या में हुआ था। रामनवमी के दिन ही गोस्वामी तुलसीदास ने रामचरित मानस की रचना का श्रीगणेश किया था। राम भगवान् श्री विष्णु के अवतार है त्रेता युग में रावन का आतंक हर तरफ मचा हुआ था और उन्होंने अपने असीम शक्तियों के बल पर नवग्रहों...

दुर्गा सप्तशती के ये मंत्र दिलाएंगे हर समस्या से समाधान..!!

दुर्गा सप्तशती के ये मंत्र दिलाएंगे हर समस्या से समाधान..!!

नवरात्रे का हर दिन माँ दुर्गा के एक स्वरुप को अर्पित होता है। माँ दुर्गा का विधि विधान से पूजा-अर्चना करने और पसंदीदा भोग चढ़ाने से मनचाहा फल प्राप्त होता है, तथा रुके हुए कार्य संपूर्ण हो जाते है। हर दिन अत्यंत ही शुभ और कल्याणकारी है। कहा गया है कि पूर्ण श्रद्धा और विश्वास के साथ नवरात्रि के व्रत रखने से माँ अत्यंत प्रसन्न होती है और...

जानिए नवरात्रि के नौ भोग कैसे पूर्ण करेंगे हर इच्छा?

जानिए नवरात्रि के नौ भोग कैसे पूर्ण करेंगे हर इच्छा?

नवरात्रि प्रारंभ हो चुकी है। इन नौ दिनों में माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की आराधना की जाएगी और उनका आशीर्वाद लिया जायेगा। नवरात्रि के दौरान, माता रानी को हर दिन के अनुसार भोग लगाने से मनवांछित फल प्राप्त होता है और हर तरह की समस्या से निजात मिलता है। जानिए किस दिन कोन सा प्रसाद देवी माँ को अर्पण करके देवी माँ को प्रसन्न करे...

कैसे करे माँ दुर्गा को प्रसन्न!

कैसे करे माँ दुर्गा को प्रसन्न!

चैत्र नवरात्रि का शुभारंभ इस वर्ष 28 मार्च से होने जा रहा है। नौ दिनों तक चलने वाली इस पूजा में देवी दुर्गा के नौ स्वरूपों की आराधना की जायेगी। नवरात्रि में घटस्थापना का शुभ मुहूर्त मंगलवार की सुबह 08 बजकर 26 मिनट से लेकर 10 बजकर 24 मिनट तक का है। यह नवरात्र 28 मार्च से लेकर 5 अप्रैल तक चलेंगे। वैसे तो एक वर्ष में चैत्र, आषाढ़...